‘रईस’ ट्रेलर रिव्यु: रोमांस से एक्शन तक, ब्लॉकबस्टर फिल्म का फुल मसाला

शाहरुख खान और नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने महज़ कुछ घंटे पहले मुम्बई स्थित यशराज स्टूडियो में अपनी बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘रईस‘ का ट्रेलर लांच किया. ट्रेलर के विडियो शेयरिंग वेबसाइट यूट्यूब पर अपलोड होते ही इसे 276, 208 लोगों ने देखा और यह संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है. तो आखिर क्या बनाता है फिल्म ‘रईस’ और इसके ट्रेलर को इतना ख़ास. आइये करते हैं इस बिग बजट फिल्म के ट्रेलर की विस्तृत समीक्षा…

एक रियल लाइफ कहानी पर आधारित है ‘रईस’

फिल्म ‘रईस’ गुजरात के शराब कारोबारी रईस असलम के जीवन पर आधारित है. आजकल की ऑडियंस के टेस्ट की अगर बात करें तो उसे इस तरह की फिल्में खूब पसंद आती हैं. इसके अलावा ‘रईस’ में कई और ऐसी बातें हैं जो इसे एक इंटरेस्टिंग फिल्म बनाती हैं. जैसे कि फिल्म का 70-80 के दशक में सेट होना, पुराने ज़माने का संगीत, चोर-पुलिस का खेल आदि. फिल्म के ट्रेलर ने बता दिया है कि ‘रईस’ में एक ब्लॉकबस्टर फिल्म होने के सभी मसाले मौजूद हैं. ट्रेलर इतना दमदार है कि आप शुरू से लेकर अंत तक इससे नज़र नहीं हटा सकते. एक रियल लाइफ स्टोरी पर आधारित होने की वजह से लोगों के बीच फिल्म के बारे में काफ़ी उत्सुकता है. फिल्म का ट्रेलर उस उत्सुकता को और बढ़ाता है.

रोमांस की नहीं होगी कोई कमी

शाहरुख-खान, माहिरा-खान
शाहरुख खान और माहिरा खान का रोमांस

 

शाहरुख की फिल्म हो और उसमे रोमांस न हो तो जनता जरा नाराज़ सी हो जाती है, लेकिन इस फिल्म के ट्रेलर ने एक बात बिल्कुल साफ़ कर दी है, कि भले ही फिल्म एक चोर और पुलिस के बीच के छत्तीस के आंकड़े के बारे में हो, लेकिन इसमें रोमांस की बयार बराबर चलती रहेगी. इस फिल्म में शाहरुख़ के साथ आप पाकिस्तान की मशहूर अदाकारा माहिरा खान को रोमांस करते हुए देखेंगे. फिल्म में इन दोनों के बीच की केमिस्ट्री कितनी हॉट होने वाली है इसका अंदाज़ा आपको फिल्म का ट्रेलर देखकर हो जायेगा.

दमदार किरदार जो दिल में घर कर जाएँ

अगर आपके किरदार दर्शकों से एक कनेक्शन बना लें तो समझिये कि आधी जंग आप वैसे ही जीत गए. फिल्म ‘रईस’ के ट्रेलर से बिल्कुल साफ़ है कि शाहरुख़ ख़ान और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के किरदारों पर कितनी मेहनत की गयी है. जिन लोगों ने भी फिल्म का ट्रेलर देखा है उन सबका यही मानना है कि दोनों ही कलाकारों ने अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की है. और जिस तरह से फिल्म का ट्रेलर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसे देखकर तो यही लगता है कि दोनों ही अपनी कोशिश में कामयाब हुए हैं.

असरदार डॉयलाग्स जो दिमाग़ से न उतरें 

आखिर में हम एक बात और जोड़ना चाहेंगे कि फिल्म में शाहरुख़ और नवाज़, दोनों कलाकारों के किरदार इतने प्रभावशाली तरीके से निखरकर इसलिए सामने आये हैं क्योंकि उन्हें बेहतरीन डॉयलाग्स का सहारा मिला है. शाहरुख़ का डायलॉग ‘अम्मी जान कहती थीं कोई धंधा छोटा नहीं होता और धंधे से बड़ा कोई धर्म नहीं होता” और नवाज़ का डायलॉग ‘एक दिन नाक में नकेल डालकर खींचकर ले जाऊंगा तुझे यहाँ से’ ट्रेलर की जान हैं. मेरी मानें तो ट्रेलर का या फिर कहें फिल्म का सबसे मज़बूत पक्ष इसके डॉयलाग्स ही हैं.

नीचे दिए बटन को क्लिक करके इस पोस्ट को मित्रों में शेयर करें