के बारे में

  • जन्म: 1942-12-29
  • जन्म स्थान: अमृतसर, पंजाब
  • राशि: धन

सामाजिक जानकारी

राजेश खन्ना की इमेज बॉलीवुड फिल्मों में न तो एंग्री यंगमैन की थी और न ही आधुनिकता या विलासिता में खोए नई पीढ़ी के नौजवान की, जो पैसे के बल पर सब कुछ पा लेना चाहता हो. उनकी छवि तो बड़े पर्दे पर ऐसे रोमांटिक हीरो की थी, जिसकी तस्वीर से ही लड़कियों को मोहब्बत हो जाती थी. कमसिन हसीनाएं पर्दे पर जब राजेश खन्ना को स्माइल के साथ पलके झपकाते हुए गर्दन टेढ़ी कर बोलते हुए देखती थीं, तो सिनेमा हॉल के अंधेरे में ही उनकी जिंदगी में प्यार का उजियारा भर जाता था.

उनका जन्म 29 दिसम्बर 1942 को जबकि  उनका निधन  18 जुलाई 2012 को हुआ.  उन्होंने कई हिन्दी फिल्में बनायीं और राजनीति में भी प्रवेश किया. वे नई दिल्ली लोक सभा सीट से पांच वर्ष 1991-96 तक कांग्रेस पार्टी के सांसद रहे. बाद में उन्होंने राजनीति से सन्यास ले लिया. उस दौर में उनकी कुछ फैंस तो इस कदर दीवानी हो गईं थी कि उन्हें अपने खून से पत्र लिखे और उनका नाम अपने शरीर पर गुदवाकर उन्हें अपनी शिराओं में बसा लिया. जब राजेश खन्ना कहीं जाते थे उनकी फैंस अपने होठों की लिपिस्टक से उनकी सफेद अंपाला को चूमकर गुलाबी कर दिया करती थीं, कितना रोमांचित महसूस होता है न ये सब सुनकर, लेकिन ऐसा ही था उस दौर में राजेश खन्ना का स्टारडम.